05 दिवसीय “टिहरी एक्रो फेस्टिवल” का मंगलवार को भव्य रूप से समापन

05 दिवसीय “टिहरी एक्रो फेस्टिवल” का मंगलवार को भव्य रूप से समापन

कोटी कालोनी टिहरी गढ़वाल में आयोजित 05 दिवसीय “टिहरी एक्रो फेस्टिवल” का मंगलवार को आर्मी बैण्ड की प्रस्तुति के साथ भव्य रूप से समापन हुआ। इस अवसर पर सराहनीय कार्य करने वाले स्टाफ एवं प्रतियोगिता में शामिल सभी पैराग्लाइडिंग खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र शॉल एवं मोमेंटो प्रदान किए गए। फेस्टिवल में भारत सहित कुल 27 देशों के पैराग्लाईडिंग पायलटों द्वारा प्रतिभाग किया गया, जिसमें 40 पुरुष एवं 14 महिलाओं सहित कुल 54 विदेशी पायलट एवं 124 भारतीय पैराग्लाईडिंग पायलट शामिल हैं। टिहरी एस.आई.वी. कप में प्रथम स्थान पर श्री गौतम, द्वितीय श्री भरत कोन्जेंटी एवं तृतीय स्थान श्री निखिल ठाकुर ने प्राप्त किया। जबकि एक्रो कप में श्री विजय ठाकुर ने प्रथम, श्री मनोज कुमार ने द्वितीय एवं श्री गौरव ने तृतीय स्थान प्राप्त किया तथा एस.आई.वी. महिला वर्ग में प्रिया जैन ने एकल प्रतियोगी के रूप में प्रतिभाग किया

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के तत्वावधान में दिनांक 24 से 28 नवम्बर, 2023 तक आयोजित एक्रो फेस्टिवल के दौरान प्रतिदिन देशी विदेशी पायलटों ने सोलो फ्लाईट, सिंक्रो फ्लाईट्स, विंग शूट जंप, और डी-बैग शो इत्यादि करतब बाजियां की गई। इस दौरान टिहरी झील के पर्यटकों ने भी रोमांच का आनन्द लिया तथा प्रत्येक दिन विभिन्न बैण्ड यूफोरिया, पाण्डवास, भैरव जैसे प्रसिद्ध बैंड द्वारा सांस्कृतिक संध्या आयोजित की गयी।

प्रतियोगिता के अंतिम दिवस मंगलवार को भी पैराग्लाइडरो द्वारा निकट राजा का महल प्रतापनगर टिहरी गढ़वाल से टिहरी झील के ऊपर करतब/शो दिखाते यथा सिक्रो फ़्लाइंग, विंग शूट जम्प, स्काई डाइविंग करते हुए निकट बोटिंग पॉइंट कोटी कलोनी के खाली प्रांगण में उतरकर प्रतियोगिता शांतिपूर्ण आयोजित की गई।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी साहसिक विंग उत्तराखण्ड पर्यटन कर्नल अश्विनी पुंडीर द्वारा विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। उन्होंने प्रतिभागियों की जबरदस्त कलाबाजियों हेतु धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में उत्तराखण्ड ने खुद को मजबूत किया है। कहा कि देश में समग्र साहसिक खेल के बुनियादी ढांचे में सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ऐसे अर्न्तराष्ट्रीय आयोजनों से उत्तराखण्ड राज्य जल्द ही विश्व के साहसिक पर्यटन मानचित्र पर होगा। उन्होंने बताया कि पर्यटन विभाग पैराग्लाईडिंग, कयाकिंग कैनोंईग, राफ्टिंग जैसी अन्य गतिविधियों के साथ टिहरी को एडवेंचर हब के रूप में विकसित करने की दिशा में लगातार कार्य कर रहा है। उन्होंने आयोजन को सफल बनाने में टिहरी गढ़वाल जिला प्रशासन सहित समस्त विभागों, आईटीबीपी, एसडीआरएफ, आईएचएम टिहरी सहित पैराग्लाईडिंग मंत्रा को धन्यवाद किया।

इस मौके पर निदेशक प्रचार उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद् सुमित पंत, विशेष कार्याधिकारी उत्तराखंड विकास परिषद मनोज जोशी, डीटीडीओ अतुल भण्डारी एवं विजेन्द्र पांडेय, साहसिक खेल अधिकारी खुशाल सिंह नेगी एवं एवं लता बिष्ट, उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद के जनसम्पर्क अधिकारी कमल किशोर जोशी, सीईओ मंत्रा पैराग्लाइडिंग कम्पनी तानाजी ताकवे सहित स्थानीय प्रशासन/पुलिस के आला अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share