चारधाम यात्रा पड़ावों पर वाटर एटीएम से मिलेगा पीने का पानी

चारधाम यात्रा पड़ावों पर वाटर एटीएम से मिलेगा पीने का पानी

चारधाम यात्रा पड़ावों पर लगे वाटर एटीएम से इस बार बिना सिक्का डाले पीने का पानी मिलेगा। जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने जल संस्थान को गंगोत्री-यमुनोत्री धाम सहित यात्रा मार्गों पर वाटर एटीएम से निशुल्क पेयजल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। जिले के चारधाम यात्रा मार्गों पर पेयजल आपूर्ति की समीक्षा करते हुए डीएम ने कहा कि तीर्थयात्रियों के लिए पर्याप्त मात्रा में शुद्ध व सुलभ पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करना प्रशासन की प्राथमिकता है। उन्होंने जल संस्थान से इसके लिए यात्रा मार्गों की सभी पेयजल योजनाओं, टैंकों, स्टैंड पोस्टों, हैंडपंप व वाटर एटीएम की देखरेख व मरम्मत का काम इसी सप्ताह पूरा करने के निर्देश दिए। डीएम ने पानी के नमूनों की नियमित जांच करने के निर्देश देते हुए कहा कि जल संस्थान की आपूर्ति से इतर अन्य स्रोतों से लाए जाने वाले पानी की भी जांच होनी चाहिए। डीएम ने बड़कोट नगर की पेयजल समस्या के समाधान के लिए भी ठोस प्रयास करने को कहा।

दोनों धामों के पैदल मार्ग पर तैनात होंगे 40 एफएमआर
गंगोत्री-यमुनोत्री धाम में विशेषज्ञ चिकित्सकों के साथ दोनों धामों के पैदल मार्ग पर त्वरित चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने के लिए इस बार भी 40 मेडिकल फर्स्ट रेस्पॉन्डर (एमएफआर) तैनात रहेंगे, जिसमें से 30 प्रशिक्षित एफएमआर की तैनाती जानकीचट्टी से यमुनोत्री पैदल मार्ग पर और शेष दस की तैनाती गंगोत्री-गोमुख मार्ग पर की जाएगी। यात्रा के लिए रोस्टर के आधार पर जिले के बाहर से 28 डॉक्टर्स एवं जिले के 09 डॉक्टर्स की ड्यूटी लगाई जा चुकी है।

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य संबंधी स्क्रीनिंग के लिए यमुनोत्री मार्ग पर दोबाटा (बड़कोट) एवं जानकीचट्टी और गंगोत्री मार्ग पर हीना चेक पोस्ट पर स्क्रीनिंग केंद्र बनाए गए हैं। प्रत्येक केंद्र पर हर शिफ्ट में एक एलोपैथिक व एक आयुर्वेदिक चिकित्सक के साथ ही चार से छह पैरामेडिकल व सहयोगी स्टाफ की तैनात रहेगा। इसके अलावा यमुनोत्री धाम के साथ ही बम्बूहाट और भंडेलीगाड में कुल तीन मेडीकल रिलीफ पोस्ट (एमआरपी) स्थापित की जा रही है, जिसमें चिकित्सक, फार्मासिस्ट और वार्ड ब्वाय तैनात रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share