पिथौरागढ़ में पेयजल संकट से जूझ रही 800 लोगों की जिंदगी

पिथौरागढ़ में पेयजल संकट से जूझ रही 800 लोगों की जिंदगी

पिथौरागढ़ के मूनाकोट ब्लाॅक के तीन गांव के लोग दो माह से पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। परेशान लोगों ने बुधवार को कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर आक्रोश जताया। उन्होंने जल्द पेयजल समस्या से निजात नहीं दिलाने पर परिवार के साथ कलक्ट्रेट में धरना-प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है। बुधवार को धौलकाड़ा, कुनकटिया और दोबांस के ग्रामीण कलक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने कहा कि गांवों के लिए बनाई गई धौनधूर-कुनकटिया पेयजल योजना को अराजक तत्वों ने जगह-जगह पाइप काटकर क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस कारण तीन गांवों में पानी नहीं आ रहा है। इस संबंध में जल संस्थान और जल निगम के अधिकारियों को बताने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। पेयजल संकट के कारण 800 से अधिक की आबादी प्रभावित हो रही है। उन्होंने पेयजल योजना को मूल स्रोत से और क्षतिग्रस्त योजना को सड़क से नीचे शिफ्ट करने की मांग की है। उन्होंने जल्द मांग पूरी नहीं होने पर परिवार के साथ कलक्ट्रेट में धरने पर बैठने की चेतावनी दी है।

इसे भी पढ़ें – सामूहिक कन्या विवाह योजना की होगी शुरुआत, बेटियों की शादी में सहयोग करेगी सरकार

जल्द बुझेगी दिगालीचौड़ और मानाढुंगा गांवों के लोगों की प्यास
लोहाघाट के दूरस्थ नेपाल सीमा से लगे दिगालीचौड़ क्षेत्र के लोगों की जल्द प्यास बुझेगी। इसके लिए जल निगम की ओर से जल जीवन मिशन के तहत बहुल ग्राम योजना के तहत लिफ्ट पेयजल योजना के निर्माण के प्रथम चरण का कार्य पूरा कर लिया गया है। जल्द ही दूसरे चरण का कार्य भी पूरा कर लिया जाएगा। जल निगम के सहायक अभियंता नरेंद्र मोहन गड़कोटी ने बताया कि दिगालीचौड़ में 386.98 लाख की लागत से लिफ्ट पेयजल योजना का निर्माण हो रहा है। दिगालीचौड़ के हरेला मैदान में बोरिंग, अखिलतारिणी मंदिर के पास मुख्य टैंक का कार्य पूरा हो गया है। मानाढुंगा, बिंडा तिवारी और दिगालीचौड के लिए पाइप लाइन बिछा दी गई है। उन्होंने बताया कि इस योजना में दो सेंट्रीफ्यूगल पंप लगाए जाने हैं जिसमें से एक पंप लगा भी दिया गया है। दूसरे चरण में दूसरा पंप लगाने के लिए कंपनी से तकनीशियन आएंगे। एक माह के भीतर पंप लगाकर योजना का ट्रायल शुरू हो जाएगा।

30 साल बाद की आबादी को ध्यान में रखा गया
लोहाघाट के बहुल ग्राम योजना के तहत बन रही लिफ्ट पेयजल योजना से दो ग्राम पंचायत और तीन राजस्व गांवों को पानी मिलेगा। इसमें ग्राम पंचायत मानाढुंगा, बिंडातिवारी और राजस्व गांव बसेड़ी, खिलपति और ढिंगड़ा शामिल हैं। वर्ष 2022 में गांव की आबादी 1976 है जबकि 30 साल बाद 22,608 की आबादी के हिसाब से योजना का निर्माण किया जा रहा है।

कोट प्रथम चरण में एक पंप लगाने के साथ पेयजल टैंक और पेयजल लाइन बिछाने का कार्य पूरा कर लिया है। दूसरे चरण में एक और पंप लगाने के बाद लाइन की टेस्टिंग और ट्रायल किया जाएगा। ट्रायल सफल होने के बाद योजना से पेयजल आपूर्ति सुचारू कर दी जाएगी।
– नरेंद्र मोहन गड़कोटी, सहायक अभियंता, जल निगम, लोहाघाट।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share