टिहरी लोकसभा सीट पर माला राज्य लक्ष्मी शाह ने लगाई जीत की हैट्रिक

90 के दशक तक कांग्रेस का गढ़ रही टिहरी लोकसभा सीट पर इस बार भी राज परिवार का तिलिस्म नहीं टूट पाया है। भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह लोकसभा चुनाव में 462603 मत हासिल कर जीत की हैट्रिक लगाकर चौथी बार संसद पहुंचेंगी। भाजपा ने महिलाओं को प्रतिनिधित्व देने के लिए इस बार भी टिहरी सीट से रानी को टिकट दिया। रानी 2012 से इस सीट पर लगातार जीत हासिल कर रही हैं। इस बार भी रानी 2.68 लाख से अधिक मतों के अंतर से जीतीं। रानी को राजनीतिक विरासत में मिली। 2012 में रानी सक्रिय राजनीति में आईं और पहली बार उपचुनाव जीता। 2019 के लोस चुनाव में रानी ने कांग्रेस प्रत्याशी प्रीतम सिंह को पराजित किया।

1951 से 1990 तक टिहरी संसदीय क्षेत्र कांग्रेस का गढ़ रहा। एक बार निर्दलीय और एक बार बीएलडी प्रत्याशी ने चुनाव जीता। राजा मानवेंद्र शाह के भाजपा में आने के बाद 2009 के चुनाव को छोड़ इस सीट पर भाजपा काबिज है। 2009 में इस सीट से कांग्रेस के टिकट पर विजय बहुगुणा चुनाव जीते। रानी ने चौथी जीत हासिल कर राज परिवार का वर्चस्व बरकरार रखा। कांग्रेस ने राज परिवार का तिलिस्म तोड़ने के लिए राजा और प्रजा के मुद्दे पर समर्थन जुटाने का प्रयास किया

टिहरी सीट में ये विधानसभा क्षेत्र शामिल

टिहरी संसदीय क्षेत्र में 14 विधानसभा क्षेत्र हैं। इनमें पुरोला, यमुनोत्री, गंगोत्री, घनसाली, प्रतापनगर, टिहरी, धनोल्टी, चकराता, विकासनगर, सहसपुर, रायपुर, राजपुर रोड, देहरादून कैंट व मसूरी विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share