पुलिस ने श्रीनगर से रुद्रप्रयाग के बीच रोके वाहन

पुलिस ने श्रीनगर से रुद्रप्रयाग के बीच रोके वाहन

पुलिस ने बिना पंजीकरण के चारधाम यात्रा में आ रहे कई यात्री वाहनों को श्रीनगर से रुद्रप्रयाग के बीच कई जगह रोका। श्रीनगर में कलियासौड़ और फरासू में वाहन रोके गए। कोतवाली निरीक्षक होशियार सिंह पंखोली ने बताया कि वाहनों का अत्यधिक दबाव होने के चलते कुछ-कुछ समय के लिए रुद्रप्रयाग की ओर जाने वाले वाहनों को रोका गया। जिससे आगे लोगों को जाम में न फंसना पड़े। उधर, कई वाहनों को रैंतोली में बैरियर लगाकर लौटा दिया। पुलिस अधीक्षक डाॅ. विशाखा अशोक भदाणे के नेतृत्व में यहां एक-एक वाहन की चेकिंग की गई। पुलिस अधीक्षक ने यात्रियों से पंजीकरण के बाद ही यात्रा में आने की अपील की। साथ ही स्पष्ट किया कि बिना पंजीकरण के किसी भी वाहन को जिले में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

शुक्रवार को ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर श्रीनगर से रुद्रप्रयाग के बीच कलियासौड़ और फरासू, स्वीत से फरासू और रैंतोली से जवाड़ी बाईपास तक जाम की स्थिति बनी रही। जाम में यात्री वाहनों के साथ ही स्थानीय वाहन भी फंसे रहे, जिस कारण लोगों को खासी दिक्कत हुई। जाम को देखते हुए पुलिस अधीक्षक डाॅ. विशाखा अशोक भदाणे ने मोर्चा संभाला और रैंतोली पुलिस चौकी पर बैरियर लगाकर वाहनों को रोक दिया। इसके बाद उन्होंने टीम के साथ वाहनों की चेकिंग शुरू की। इस दौरान कई यात्री वाहन बिना पंजीकरण के मिले, जिन्हें एसपी ने कड़ी फटकार लगाई गई और वापस लौटा दिया। दो घंटे की मशक्कत के बाद यहां व्यवस्था दुरुस्त हो पाई।

इसके बाद वाहनों को केदारनाथ व बदरीनाथ के लिए रवाना किया गया। इस दौरान रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे पर तिलवाड़ा, काकड़ागाड़, नारायणकोटि, दगड़्या बैरियर शेरसी में भी बैरियर के माध्यम से वाहनों का संचालन किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि केदारनाथ यात्रा के सफल संचालन के लिए जिले में कई जगहों पर स्थायी व अस्थायी वाहन पार्किंग बनाई गई हैं। इन पार्किंग की एक सीमित क्षमता है, लेकिन पिछले कुछ दिन से यात्रा वाहनों की अधिकता के कारण जाम की स्थिति पैदा हो रही है। जिससे निपटने के लिए जगह-जगह बैरियर लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि सोनप्रयाग पहुंच रहे यात्रियों को शटल के माध्यम से गौरीकुंड भेजा जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बिना पंजीकरण वाले कई वाहन वापस भेजे गए हैं। आने वाले दिनों में भी इस तरह की कार्रवाई की जाएगी।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share