43 स्थानीय उत्पादों को ग्लोबल बनाने की तैयारी

43 स्थानीय उत्पादों को ग्लोबल बनाने की तैयारी

झंगोरा, लाल चावल, पहाड़ी राजमा, हल्दी पावडर, बुरांश, शहद सरीखे 43 स्थानीय उत्पादों को ग्लोबल बनाने की तैयारी शुरू हो गई है। दो चरण में ये सभी उत्पाद हाउस ऑफ हिमालयाज ब्रांड के तहत तैयार किए जाएंगे। नीदरलैंड की कंपनी वूमन ऑन विंग्स भी सहयोग करेगी। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रोडक्ट, खरीदारी, स्टोर और पदाधिकारियों से संबंधित प्रस्तावों पर सहमति दी है। सीएम उत्तराखंड के उत्पादों में वृद्धि करने के लिए योजना, इसके क्रियान्वयन और व्यूह रचना से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। कहा, हाउस ऑफ हिमालयाज ब्रांड की शुरुआत जल्द से जल्द की जाए। इसमें जो भी उत्पाद शामिल हों, वे बेहतरीन गुणवत्ता के साथ आकर्षक पैकेजिंग वाले हों। उन्होंने कहा कि ब्रांड से राज्य के सभी स्वयं सहायता समूहों को जोड़ा जाए। बताया, इस ब्रांड के तहत देवभूमि उत्तराखंड के लोकल उत्पादों, झंगोरा, लाल चावल, राजमा, गहत दाल, हल्दी पावडर, बुरांश, शहद, तोर दाल, काला सोयाबीन, बासमती चावल, दालचीनी, सेब जाम, मशरूम व लहसुन के अचार समेत पहले चरण में 21 उत्पादों को तथा दूसरे चरण में 22 उत्पादों को ग्लोबल बनाने के लिए कार्य किया जाएगा।

इसमें ग्राम्य विकास, वन, कृषि, उद्योग, सहकारिता सहित नीदरलैंड की कंपनी वूमन ऑन विंग्स का भी सहयोग प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने बैठक में कौन-कौन से प्रोडक्ट होंगे, उत्पादों की खरीददारी, कहां-कहां पर इनके स्टोर होंगे, इसमें कौन-कौन से पदाधिकारी होंगे आदि के संबंध में विस्तार से चर्चा कर इनकी स्वीकृति दी। बैठक में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, सुबोध उनियाल, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आरके सुधांशु, सचिव राधिका झा उपस्थित थे।

गुणवत्ता नियंत्रण के लिए एक टीम बनेगी
अफसरों ने बताया, गुणवत्ता कंट्रोल के लिए एक टीम गठित की जाएगी, जो इस ब्रांड के अंदर आने वाले उत्पादों की निरंतर मॉनिटरिंग करेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने हाउस ऑफ़ हिमालयाज ब्रांड के अंतर्गत आने वाले उत्पादों का लोकार्पण भी किया।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share