वाजा इंडिया के कैलेंडर का बुद्धिजीवियों ने किया विमोचन

वाजा इंडिया के कैलेंडर का बुद्धिजीवियों ने किया विमोचन

देहरादून : राइटर्स ए जर्नलिस्ट एसोसिएशन (वाजा इंडिया) के कैलेंडर का विमोचन शनिवार को मुख्य अतिथि डॉ एस फ़ारुख़, विशिष्ट अतिथि हित्यकारसुभाष पंत, जनकवि डॉ अतुल शर्मा, शिक्षाविद् कमला पंत, वरिष्ठ पत्रकार जय सिंह रावत, एसोसिएशन के प्रदेश महामन्त्री वीरेन्द्र डंगवाल “पार्थ”, एसोसिएशनकी महिला इकाई की प्रदेश अध्यक्ष डॉ बसंती मठपाल और एसोसिएशन के प्रदेश कोषाध्यक्ष सोनू फ्रांसिस ने किया। समारोह में लोकगीत और जनगीतों कीशानदार प्रस्तुति लोक कलाकारों और रंगकर्मियों ने दी। वहीं, सुभाष पंत की कहानी का वाचन भी हुआ।

तस्मिया अकेडमी सभागार -1-इन्दर रोड देहरादून में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि डॉ एस फारुख ने कहा कि वाजा इंडिया के माध्यम से पत्रकारों और साहित्यकारों की गंभीर और चिंतन की बातें समाज तक जाएंगी। वर्तमान में जरूरत है कि समाज को नई दिशा देने की।जाति और धर्म के झगड़े दूर होने चाहिए। इन झगड़ों से समाज का नुकसान होता है। भारतीय संस्कृति अनेकता में एकता की संस्कृति है। उसे कायम रखना सबकी जिम्मेदारी है। विशिष्ट अतिथि कहानीकार सुभाष ने अपनी कहानी रतिनाथ का सुख का वाचन किया। रतिनाथ ऐसा व्यक्ति है जो 52 साल की उम्र में पलंग खरीद पाता है। लेकिन, उसे पलंग पर नींद नहीं आती है। श्रोताओं ने मंत्रमुग्ध होकर कहानी सुनी। पंत ने कहा कि किसी विमोचन समारोह में पहला मौका है जबकि कहानी का वाचन कराया गया।

एसोसिएशन की इस नई पहल के लिए उन्होंने कार्यकारिणी की सराहना की। जनकवि डॉ अतुल शर्मा ने कहा कि जनगीत के माध्यम से अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि वाजा इंडिया साहित्य, संस्कृति के साथ ही पत्रकारों और साहित्यकारों के हित में भी काम करेगी। शिक्षाविद् कमला पंत ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में काम किए जाने की जरूरत है। लेकिन, सवाल उठता है कि काम करेगा कौन। ऐसे में वाजा इंडिया से उम्मीद है कि वह कुछ नया काम करेगी। एसोसिएशन की जानकारी देते हुए राइटर्स ए जर्नलिस्ट एसोसिएशन (वाजा इंडिया) के प्रदेश महामंत्री वीरेन्द्र डंगवाल पार्थ ने कहा कि वाजा इंडिया पत्रकारों और साहित्यकारों का देश में पहला साझा संगठन है। वर्तमान में एसोसिएशन की 15 प्रदशों में कार्यकारिणियां हैं। जो स्थानीय स्तर पर साहित्य, संस्कृति, लोकभाषा के साथ ही साहित्यकारों और पत्रकारों के हित में काम कर ही है। उत्तराखंड में भी संगठन विभिन्न क्षेत्रों में काम करेगी। कर्मठ लोगों को संगठन से जोड़ा जाएगा ताकि ऊर्जा के साथ काम किया जा सके। वाजा इंडिया की महिला इकाई की अध्यक्ष डॉ बंसती मठपाल ने कहा कि महिला इकाई की कार्यकारिणी का जल्द गठन किया जाएगा। प्रदेश कोषाध्यक्ष सोनू फ्रांसिस ने कहा कि प्रदेश में संगठन अपनी एक नई पहचान बनाएगा। आगामी दिनों में संगठन कई बड़े कार्यक्रम आयोजित करेगा। समारोह की अध्यक्षताजय सिंह रावत जी और संचालन वीरेन्द्र डंगवाल “पार्थ” ने किया।

 इस अवसर पर वरिष्ठ साइर अंबर खरबंदा, सावित्री काला सवि, अमरजीत कौर करीर, एस चंद्रा, विजयस्नेही, डॉ नीलम प्रभा वर्मा, सतीश बंसल, जसवीर सिंह हलधर, रामलाल खंडूरी, प्रदीप कुकरेती, पूनम नैथानी, सरिता भट्ट, कुसुमलता कन्नौजिया, कुसुम भट्ट, बहन हेमलता, चंद्रदत्त सुयाल, वन्दिता श्री, ममता डंगवाल, पारस पार्थ, सतीश धौलाखंडि, मनीष, कविता बिष्ट, कल्पना बहुगुणा, ब्रिगेडियर केजी बहल, आरके बख्शी, पास्टर मुन्ना मनीष, शम्मीकुमार, सौरभ खंडूरी, प्रेम सिंह यादव, सुधीर कपूर, जीके पिपिल, इरशाद अली, कमलेश खंतवाल, डॉ प्रभा जैन, पंकज भार्गव, डॉ लक्षमण चौहान, भुवन कुनियाल, नीलिमा धुलिया, अंजू गुसाईं, लाजवंती रावत, शोभा गरिया, इम्तियाज, कुंवर राजेंद्र वर्मा, साईंबाबा एन्क्लेवे के अध्यक्ष रविंद्र अरोड़ा व सचि अजय सिंघल, संघ के पूर्व प्रचारक बलवंत सिंह बोरोआदि सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share