बदरीनाथ यात्रा थमी, भारी बारिश से बढ़ा नदियों का जलस्तर, प्रशासन और एसडीआरएफ अलर्ट

बदरीनाथ यात्रा थमी, भारी बारिश से बढ़ा नदियों का जलस्तर, प्रशासन और एसडीआरएफ अलर्ट

 

रुद्रप्रयाग और चमोली जिले में तड़के से बारिश हुई। कुछ जिलों में आसमान में बादल छाए हैं। जबकि मैदानी इलाकों में मौसम साफ है। पर्वतीय जिलों में नदियां उफान पर हैं। श्रीनगर, रुद्रप्रयाग और कर्णप्रयाग में अलकनंदा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। वहीं टिहरी बांध की झील का जलस्तर आरएल 770.45 मीटर पहुंच गया है। झील से 185 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है।

दूसरी ओर खराब मौसम चारधाम यात्रा में रोड़ा बना हुआ है। बारिश के चलते यात्रा प्रभावित हो रही है। बदरीनाथ हाईवे बैनाकुली, रड़ांग बैंड, लामबगड़ नाला और खचड़ा नाले में बंद होने से फिलहाल बदरीनाथ धाम की तीर्थयात्रा थमी है। हालांकि केदारनाथ यात्रा जारी है। वहीं टिहरी में भारी बारिश के बाद बाल गंगा नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है। प्रशासन ने अलर्ट जारी किया। वहीं ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे सहित जिले के प्रमुख मोट मार्गो पर यातायात सामान्य रूप से चल रहा है ।

 

यमुनोत्री पैदल मार्ग पर जोखिम भरी आवाजाही

हरिद्वार में गंगा नदी का जलस्तर बढ़ गया है। पहाड़ों पर लगातार हो रही बारिश के चलते गंगा नदी का जलस्तर चेतावनी के पास पहुंच गया है। भीमगोडा बैराज पर फिलहाल गंगा 292 के पास बह रही है, जबकि 293 गंगा का चेतावनी स्तर है। यूपी सिंचाई विभाग के अधिकारी गंगा के जलस्तर पर अपनी नजर बनाए हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share