9 महीने बाद आज फिर शक्तिनहर (विकासनगर) के किनारे गरजी जेसीबी, 106 जगह से हटाया अतिक्रमण

9 महीने बाद आज फिर शक्तिनहर (विकासनगर) के किनारे गरजी जेसीबी, 106 जगह से हटाया अतिक्रमण

देहरादून में विकासनगर की शक्ति नहर किनारे यूजेवीएनएल, प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम ने आज शुक्रवार से अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू कर दिया है। सबसे पहले कुंजा में जेसीबी से पक्के निर्माण तोड़े गए। मौके पर एसडीएम विनोद कुमार, एसपी देहात कमलेश उपाध्याय, सीओ विकासनगर भाष्कर शाह, कोतवाली प्रभारी विकासनगर सूर्यभूषण सिंह नेगी, विकासनगर कोतवाली, कालसी, सहसपुर, सेलाकुई व संबंधित सभी चौकियों के करीब 100 पुलिसकर्मी और यूजेवीएनल के अधिकारी मौजूद रहे। वहीं, कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ भी जुटी रही।

शक्तिनहर किनारे कुंजा में महिलाएं स्वयं अतिक्रमण हटाने की बात कहते कार्रवाई न करने के लिए गुहार लगाती रहीं, लेकिन टीम ने महिलाओं की एक नहीं सुनी। टीम ने जेसीबी से मकानों को तोड़ दिया। अपनी आंखों के सामने अपने आशियाने उजड़ते देख महिलाएं भावुक हो गईं। उधर, मटक माजरी में लोगों ने स्वयं ही मदरसे के अवैध अतिक्रमण को तोड़ना शुरू कर दिया।

इसे भी पढ़ें- उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं की डेटशीट

पूरा मामला –

यूजेवीएनएल ने परियोजना क्षेत्र में शक्तिनहर पटरी के किनारे करीब 600 अतिक्रमण चिह्नित किए थे। गत 19 मार्च को वह दिन आया, जब अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शुरू हुई। तीन दिनों में यूजेवीएनएल ही करीब 500 अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया। ढालीपुर से कुल्हाल के बीच भी अतिक्रमण हटाया जाना था, लेकिन तब यूजेवीएनएल ने कार्रवाई को रोक दिया था।

ढालीपुर से कुल्हाल के बीच यूजेवीएनएल ने 104 अवैध कब्जे चिह्नित किए थे इनमें 15 पक्के और 89 कच्चे निर्माण थे। सभी अतिक्रमणकारियों को यूजेवीएनएल ने नोटिस जारी कर दिए थे। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को लेकर यूजेवीएनएल, प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के बीच पिछले एक महीने से मंथन चल रहा था। आखिरकार नए साल से पहले अवैध कब्जों पर कार्रवाई के लिए 29 दिसंबर का दिन मुकर्रर किया गया। शाम तक 104 बचे हुए और दो अन्य अतिक्रमण को भी हटाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share