प्रदेश में सड़कों पर लगे डिजिटल स्पीड साइन बोर्ड

प्रदेश में सड़कों पर लगे डिजिटल स्पीड साइन बोर्ड

प्रदेश में सड़क हादसों को रोकने के लिए यातायात निदेशालय की ओर से सड़कों पर डिजिटल स्पीड साइन बोर्ड लगाए गए हैं। इससे सड़क पर चलते समय वाहन स्वामी को उनकी गाड़ी की गति की सूचना मिलेगी। यातायात निदेशालय का मानना है कि इससे वाहन स्वामी बोर्ड में देखकर खुद अपनी स्पीड कम करेगा। पुलिस महानिरीक्षक व निदेशक यातायात मुख्तार मोहसिन ने बताया कि सड़क दुर्घटना के मुख्य कारण ओवरस्पीड का विश्लेषण किया गया। इसके बाद प्रदेश में गतिसीमा के निर्धारण के लिए उपकरणों से गतिसीमा की चेतावनी के लिए प्रदेश में पहली बार हाईटेक गतिसीमा बोर्ड (डिजिटल स्पीड साइन बोर्ड) लगाए गए हैं।

यह साइन बोर्ड रडार तकनीक का इस्तेमाल करके आ रहे वाहनों की गति को मापता है। जब कोई वाहन इस साइन बोर्ड के पास से निकलेगा तो उसकी गति साइन बोर्ड पर दिख जाएगी। निर्धारित स्पीड से होने पर यह बोर्ड लाल लाइट दिखाएगा।

दून में यहां लगे हैं स्पीड साइन बोर्ड
यातायात निदेशालय की ओर से दून में तीन स्थानों पर स्पीड साइन बोर्ड लगाए गए हैं। जो हरिद्वार बाइपास पर नियल हिल्स अपार्टमेंट, राजपुर रोड पर होटल सनराइज, ईसी रोड पर सीएसडी डिपो आराघर के पास लगाए गए हैं।

स्पीड साइन बोर्ड को देखकर आएगा मनोवैज्ञानिक दबाव
पुलिस महानिरीक्षक व निदेशक यातायात मुख्तार मोहसिन ने बताया कि डिजिटल स्पीड साइन बोर्ड पर अपने वाहन की गति देखने के बाद वाहन चालकों पर एक मनोवैज्ञानिक दबाव आएगा। इससे अगर उनके वाहन की रफ्तार अधिक होगी तो वह अपने वाहन की रफ्तार को खुद ही कम कर लेंगे। इसके साथ ही यदि किसी वाहन में बच्चे उस बोर्ड को देखेंगे तो वह अपने माता-पिता या चालक को बताएंगे कि आपके वाहन की गति अधिक है या कम, इससे बच्चे भी भविष्य के लिए गति-सीमा के पालन के लिए प्रेरित होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share