स्वच्छता सर्वेक्षण में देहरादून शहर 68 वें स्थान पर, जानें बाकी शहरों की रैंकिंग

स्वच्छता सर्वेक्षण में देहरादून शहर 68 वें स्थान पर, जानें बाकी शहरों की रैंकिंग

भारत सरकार के आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के नतीजे जारी कर दिए हैं। देहरादून शहर को 68 वां स्थान मिला है। हरिद्वार को 176 नंबर मिला। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के सिर सातवीं बार सबसे स्वच्छ शहर होने का ताज सजा है। दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उत्तराखंड के शहरी विकास मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल को भारत मंडपम में नगर निगम देहरादून और नगर पालिका परिषद मुनि की रेती को स्वच्छता सर्वेक्षण में स्थान प्राप्त करने के लिए सम्मानित किया। वहीं, देहरादून के विकासनगर को एक लाख से कम आबादी वाले शहरों में प्रदेश में 18 वीं रैंक मिली है। पिछले साल 41 थी रैंक थी। उस वक्त विकास नगर खुले में शौच मुक्त नहीं था। अब शहर ओडीएफ प्लस हो गया है। स्वच्छता रैंकिंग में इस बार हरबर्टपुर तीन पायदान फिसला है। एक लाख से कम आबादी वाले शहर की श्रेणी में नगर पालिका को 31 वां स्थान मिला है।

देश के शीर्ष-50 स्वच्छ शहरों में अपना नाम शामिल करने का दावा कर रहा देहरादून नगर निगम स्वच्छता के कई मानकों पर मात खा गया। यही वजह है कि शीर्ष-50 तक पहुंचने में निगम का दम फूल गया और अपनी पिछली रैंकिंग में सिर्फ एक अंक का सुधार कर पाया। निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2023 में कूड़ा पृथकीकरण, कूड़ा प्रसंस्करण में काफी कम अंक अर्जित किए। वहीं, नाले-नालियों की सफाई में एक भी अंक नहीं मिला यानी शून्य अंक हैं। धरातल पर ऐसे प्रदर्शनों के बावजूद नगर निगम ने खुद को शीर्ष-50 शहरों में शुमार करने के लिए नारे लगाकर प्रचार किया।

दावे किए कि इस बार के स्वच्छता सर्वेक्षण में निश्चित तौर पर देश में दून का नाम रोशन करेंगे। लेकिन निगम का यह दावा स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजे घोषित होते ही हवा हो गया। शीर्ष-50 तो दूर पिछली स्वच्छता सर्वेक्षण के मुकाबले भी बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाया। 2018 से 2022 तक की स्वच्छता रैंकिंग की बात करें तो निगम ने अपनी रैंकिंग में लंबी छलांंग लगाई थी। वर्ष 2018 में देहरादून नगर निगम 258वें स्थान पर था। 2019 में निगम काफी पिछड़ गया और रैंक 384वीं रही थी। लेकिन, उसके बाद निगम ने बेहतर प्रदर्शन किया और 2022 में 69वीं रैंक तक पहुंचा। अब इस बार दून केवल एक रैंक का सुधार कर पाया। इसके पीछे नगर निगम की लचर कार्यप्रणाली पूरी तरह से जिम्मेदार है।

यह है शहरों की रैंकिंग
देहरादून- 68
हरिद्वार-176
रुड़की-180
हल्द्वानी-211
ऋषिकेश-304
कोटद्वार-348
रुद्रपुर-417

इसे भी पढ़ें – विक्रम-टेंपो की बॉडी और पट्टी का रंग तय, नियम नहीं मानने पर होगी सख्त होगी कार्रवाई

जिलाधिकारी सोनिका ने पर्यावरण मित्रों का कराया सर्वे

नगर निगम के पिछले कार्यकाल में पूरे पांच साल पर्यावरण मित्रों का खेल चला। निगम ऐसे पर्यावरणमित्रों के दम पर सफाई का दावा करता रहा जिनके केवल नाम ही कागज पर दर्ज मिल रहे हैं। ये सारे कर्मचारी निवर्तमान पार्षदों ने नियुक्त किए और उन्हीं के अनुमोदन पर इन्हें लगभग 15 रुपये हर माह भुगतान होता रहा। जब बोर्ड का कार्यकाल खत्म हुआ तो निगम की बागडोर प्रशासक सोनिका के हाथों आ गई। उन्होंने सफाई की शिकायतों पर सर्वे कराने का आदेश किया। सर्वे में पाया गया कि राज्य के बाहरी लोगों के नाम भी पर्यावरणमित्रों के तौर पर दर्ज हैं। हर वार्ड में चार-पांच कर्मचारी अनुपस्थित हैं या उनकी जगह दूसरा व्यक्ति काम करता पाया जा रहा है। ऐसे में स्वच्छता रैंकिंग में सुधार की बात करना बेमानी है।

दून का प्रदर्शन पैरामीटर पर
पैरामीटर अंक प्रतिशत 2023 में और 2022 में
डोर-टु-डोर कूड़ा कलेक्शन 97 98
कूड़ा पृथकीकरण 10 95
कूड़े की प्रोसेसिंग 79 96
आवासीय क्षेत्रों की सफाई 98 100
बाजारों की सफाई 98 100
ड्रेनेज की सफाई 0 60
जलाशयों की सफाई 50 50
शौचालयों की सफाई 85 68

किस पैरामीटर पर कितने अंक मिले
पैरामीटर, अंक 2023,
सेवा स्तर की प्रगति, 3152.2/4830
खुले में शौच मुक्त, 1850/2500
सिटिजन वॉयस, 1576.7/2170

पिछले छह वर्षों में दून नगर निगम की स्थिति

वर्ष        रैंक
2018      258
2019      384
2020      123
202      1 82
2022        69
2023        68

देहरादून नगर निगम स्वच्छता रैंकिंग में लगातार सुधार कर रहा है। वर्ष 2019 मं जहां देहरादून की रैंकिंग 384 थी वहीं, अब 68 पर पहुंच गई है। राज्य में एक बार फिर देहरादून नगर स्वच्छ शहरों में नंबर एक पर है। यह सभी देहरादूनवासियों के लिए गर्व एवं हर्ष का पल है। सभी दूनवासियों को संकल्प के साथ लगातार स्वच्छता के प्रति जागरूकता को सभी तक पहुंचाना होगा। सभी के छोटे-छोटे प्रयास ही दून को भारत का सर्वक्षेष्ठ शहर बनाया जा सकता है। – सुनील उनियाल गामा, निवर्तमान मेयर, देहरादून

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share