अब शहर में विकास कार्यों की होगी जीआईएस मैपिंग

अब शहर में विकास कार्यों की होगी जीआईएस मैपिंग

नगर निगम हर साल विकास कार्यों पर करोड़ों खर्च करता है, लेकिन इन कामों की मॉनटरिंग के लिए अभी तक कोई सिस्टम नहीं बन पाया था| इसीलिए अब स्मार्ट सिटी कंट्रोल रूम, आईटी पार्क, जीआईएस मैपिंग  के लिए तैयार है| पिछले पांच सालों में 350  करोड़ रुपये विकास कार्यों पर खर्च कर चुका है| ३५ करोड़ रूपये का काम जल्द शुरू होने वाला है| इसमें से 5 करोड़ रूपये से शहर में सड़कों को गड्ढा मुख किया जाएगा, 15 करोड़ से पार्कों का सौंदर्यीकरण का काम किया जायेगा| हालांकि, लोक निर्माण अनुभाग स्टाफ की कमी के चलते निर्माण सामग्री की पूरी सैंपलिंग नहीं कर पा रहा है| काम पूरा होने के बार हर काम को क्रॉस चेक करना संभव नहीं हो प् रहा है|

इन सभी कारणों के चलते, शहर के विकास कार्यों  की जीआईएस मैपिंग करने का फैसला लिया गया है मगलवार को जिलाधिकारी सोनिका के इस व्यवस्था को लागू करने के नर्देश दिए, साथ ही दून ऐप पर आई हुई शिकायतों का निस्तारण भी जल्द करने को कहा| इस बैठक में नगर आयुक्त गौरव कुमार, अपर नगर आयुक्त वीर सिंह बुदियाल , उप नगर आयुक्त रोहितांश शर्मा, गोपाल राम बिनवाल मौजूद थे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share